कटान में रिहायशी मड़ई गंगा में समाहित, बच्चे को मल्लाहों ने बचाया

अबुलकैश (डब्बल) ब्यूरो

चंदौली । धानापुर गंगा के जलस्तर में आई कमी और लगातार ही रही बारिश से नरौली गंगा के किनारर स्थित महेंद्र की मड़ई बाह गयी। जिसमे बैठा महेंद्र का आठ वर्षीय पुत्र इंद्रदेव भी गंगा में चला गया। मौजूद मल्लाहों ने बच्चे को किसी तरह बचा लिया। ज्ञात हो कि गंगा के करार पर लगभग दर्जनों परिवार का रिहायशी मड़ई है जो बाढ़ और गंगा कटान के जद में है। नरौली के लोगों के समस्याओं को लेकर कई बार खबर प्रकाशित किया गया था जिसका संज्ञान लेते हुए कुछ दिन पूर्व जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल और पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल सहित जनप्रतिनिधियों ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया था और पुलिस अधीक्षक ने तत्काल उन परिवारों को अन्यत्र स्थानांतरित करने के लिए आदेश भी दिया लेकिन हुआ कुछ भी नही और एक बड़ा होते होते ताल टल गया। बावजूद आज भी गोपाल, सुभाष, श्री आदि सहित कई परिवार वैसे ही कटान पर रहने को मजबूर हैं ऐसे में अगर कोई ठोस उपाय नही होता है तो बड़ा हादसा हो सकता है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!