आखिर विदिशा को क्यों चुना गया इमरान के आरोपों का जबाब देने के लिए….जानें

संयुक्त राष्ट्र में भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान के आरोपों का करारा जबाव देने के लिए आखिर संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा को ही क्यों चुना गया इस पर लोग चकित थे मगर यह भी भारत का तय व सही फैसला रहा था । दरअसल, यूएन में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा भारतीय मिशन की सबसे नई सदस्य हैं । विदिशा के जरिए जवाब देकर भारत ने यह साफ कर दिया कि वह इमरान खान को तवज्जो नहीं देता है. इसलिए यूएन में सबसे नई और जूनियर अफसर विदिशा मैत्रा के जरिये जवाब देकर भारत बता रहा है कि वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की बातों को ज्यादा तवज्जो नहीं देता है

शुक्रवार को इमरान खान ने 20 मिनट की तय समय-सीमा को तोड़ते हुए 50 मिनट लंबा भाषण दिया । इस दौरान उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में अपने संबोधन के दौरान एक बार फिर कश्मीर मुद्दा उठाया ।

इमरान खान ने क्या कहा था

इमरान खान ने कहा कि कश्मीर से कर्फ्यू हटने के बाद वहां काफी खून-खराबा होगा । इससे पहले भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां अपने संबोधन में दुनिया को शांति का संदेश दिया । इमरान ने परमाणु युद्ध की धमकी देते हुए कहा, “मैं सोचता हूं कि मैं कश्मीर में होता और 55 दिनों से बंद होता, तो मैं भी बंदूक उठा लेता। आप ऐसा करके लोगों को कट्टर बना रहे हैं. मैं फिर कहना चाहता हूं कि यह बहुत मुश्किल समय है।इससे पहले कि परमाणु युद्ध हो, संयुक्त राष्ट्र की कुछ करने की जिम्मेदारी है । हम हर स्थिति के लिए तैयार हैं । अगर दो देशों के बीच युद्ध हुआ तो कुछ भी हो सकता है।”

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा, “कश्मीर में लोगों को जानवरों की तरह क्यों बंद किया गया है । वे इंसान हैं। कर्फ्यू उठ जाएगा तो क्या होगा । तब मोदी क्या करेंगे. उन्हें लगता है कि कश्मीर के लोग इस स्थिति को स्वीकार कर लेंगे? कर्फ्यू उठने के बाद कश्मीर में खून की नदियां बहेंगी, लोग बाहर आएंगे । क्या मोदी ने सोचा कि तब क्या होगा?”


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!