NRC को लेकर बंगाल में गरमाई राजनीति, ममता ने कहा- बंगाल में कभी लागू नहीं होने देंगे

एनआरसी को लेकर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बीजेपी पर एक बार फिर हमला बोला है । ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल में 6 लोगों की जान NRC के भय की वजह से चली गई और वो बंगाल में इसे कभी लागू नहीं होने देंगी । बता दें कि आने वाले दिनों में इस पर बड़ा बवाल हो सकता है क्योंकि गृह मंत्री अमित शाह एक अक्टूबर को कोलकाता जा रहे हैं । अमित शाह 1 अक्टूबर को कोलकाता के नेताजी इनडोर स्टेडियम में NRC मुद्दे पर हो रहे कार्यक्रम में शामिल होंगे ।

ममता बनर्जी ने कहा, ”याद रखिएगा वो बंगाल में कभी भी NRC नहीं कर पाएंगे । NRC करेगा कौन, ये करने के लिए उन्हें राज्य सरकार की मदद चाहिए ।हम उन्हें कभी ये करने नहीं देंगे ।’ उन्होंने कहा, ”आप इतना डर क्यों रहे हैं? आप इस राज्य में रहते हैं, इस देश के नागरिक हैं । NRC को लेकर डरने की बिलकुल जरुरत नहीं है । हम हैं आपके साथ हमारे पार्टी की तरफ से भी 6 लोग मारे गए हैं, उन 6 परिवारों के साथ हम जगह-जगह जाकर विरोध करेंगे ।’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को बीजेपी पर आरोप लगाया था कि एनआरसी को लेकर उसने भय का माहौल बनाया है. सोमवार को बनर्जी ने दावा किया कि इस वजह से राज्य में छह लोगों की मौत हो गई । तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ने व्यापार संघों की बैठक को संबोधित किया ।उन्होंने कहा कि वह राज्य में एनआरसी लागू नहीं होने देंगी। बनर्जी ने कहा, ‘‘बंगाल में एनआरसी को लेकर भय पैदा करने वाली बीजेपी पर धिक्कार है । इसके कारण पश्चिम बंगाल में छह लोगों की जान चली गई । मुझ पर भरोसा रखिए । पश्चिम बंगाल में एनआरसी को कभी मंजूरी नहीं मिलेगी ।

आपको बता दें कि मंत्री अमित शाह ने देश में भर में एनआरसी लागू करने के मुद्दे पर कहा था कि सरकार का उद्देश्य अल्पसंख्यकों को परेशान करना नहीं है । उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोई भी व्यक्ति धार्मिक आधार पर इसके लपेटे में न आए । अमित शाह ने जमीयत उलेमा-ए-हिंद को विश्वास दिलाया कि अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद कश्मीरियों की संस्कृति को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा ।

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने गुरुवार को अमित शाह से मुलाकात की थी और असम के एनआरसी मुद्दे को उठाया। ममता ने शाह से इन लोगों के मामलों की छानबीन कराने का अनुरोध किया क्योंकि इनमें काफी संख्या में बांग्ला भाषी, हिंदी भाषी, गोरखा और असमी लोग शामिल हैं । ममता बनर्जी ने कहा,”मैं पश्चिम बंगाल में एनआरसी के मुद्दे पर चर्चा करने नहीं आई थी, मैं असम में एनआरसी पर बात करने आई थी। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें इंसाफ का भरोसा दिया है और कहा है कि किसी नागरिक के साथ नाइंसाफी नहीं होगी ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!