“क्लब फुट” से पीड़ित बच्चों का होगा जिला संयुक्त चिकित्सालय में निःशुल्क इलाज

14 सितम्बर 2019

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । “क्लब फुट” एक जन्मजात बीमारी है, लेकिन इसका इलाज किया जा सकता है। मिरैकल फीट इंडिया नामक संस्था के सहयोग से जिला संयुक्त अस्पताल में “क्लब फुट” के इलाज की सुविधा के लिए आज से शुरू की गई। जिला संयुक्त अस्पताल के सीएमएस डॉ0 पी0बी0 गौतम ने “क्लब फुट” क्लिनिक के फीता काटकर उद्घाटन किया।

इस दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 एस0पी0 सिंह ने बताया कि यह एक जन्मजात दोष है। इसमें बच्चे के पैर का आकार बिगड़ जाता है। मिरैकल फीट इंडिया के सहयोग से जिला संयुक्त अस्पताल में इसके इलाज की निःशुल्क व्यवस्था की गई है। सीएमओ ने बताया कि यह संस्था उत्तर प्रदेश में “क्लब फुट” वाले बच्चों का उपचार कर रही है।

मिरैकल फीट संस्था के ब्रांच मैनेजर भूपेश ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार के परिवार कल्याण विभाग और नेशनल हैल्थ मिशन के साथ मिलकर मिरैकल फीट इंडिया “क्लब फुट” से पीड़ित बच्चों के लिए काम कर रही है। यह दोष दिव्यांगता का एक बड़ा कारण है। जिला संयुक्त चिकित्सालय में प्रत्येक शनिवार “क्लब फुट” से पीड़ित बच्चों का इलाज किया जाएगा।

इस दौरान आरबीएसके के जिला प्रबंधक अरुण शाह, वरिष्ठ अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ0 आनंद कुमार, डॉ0 राकेश कुमार पटेल, डॉ0 नीरज मिश्रा, बृजेश दुबे, फिजियोथेरेपिस्ट दीपक सिंह समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!