पत्रकार पर हुये फर्जी मुकदमे से क्षुब्ध पत्रकारों ने ओबरा में किया विरोध प्रदर्शन

13 सितम्बर 2019

कृपाशंकर पाण्डेय(संवाददाता)

ओबरा। मीरजापुर के पत्रकार पवन जायसवाल पर फर्जी मुकदमा कायम कराने हेतु मीरजापुर के जिला अधिकारी के विरुद्ध गुरुवार को ओबरा स्थित कान्वेंट तिराहे से हनुमान मंदिर चौराहे होते हुए अम्बेडकर चौराहे तक जनपद के सैकड़ों पत्रकारों ने बांहों पर काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। महामहिम राज्यपाल व मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश के नाम ज्ञापन

ओबरा थाने पर एसआई मनोज सिंह को सौंपकर मुकदमा वापस कराने व पत्रकारों के उत्पीड़न बंद करने की मांग की है।जानकारी के अनुसार प्राथमिक विद्यालय सिउर के बच्चों को नमक रोटी खिलाने के मामले में खबर छाप कर खुलासा कर मीरजापुर के अधिकारियों की पोल खोल दी। पत्रकार को सम्मानित करने के बजाय मीरजापुर जिला अधिकारी ने पत्रकार पर अपराधिक मुकदमा पंजीकृत करा दिया जिससे क्षुब्ध होकर जनपद के सैकड़ों पत्रकारों ने मिर्जापुर जिला अधिकारी को तत्काल निलंबित करने की आवाज बुलंद की।मौके पर पत्रकारों ने कहा की

पत्रकारों का उत्पीड़न बर्दास्त नही किया जाएगा। चौथा स्तंभ आज अपनी मान और सुरक्षा के लिए सड़क पर उतरने के लिए बाध्य हो गया है। प्रशासन को संज्ञान में लेकर पत्रकारों की सुरक्षा की जानी चाहिए।इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार नरेंद्र नीरव,सतीश भाटिया,के एन सिंह,आरपी उपाध्याय,प्रमोद चौबे,डॉ0 ए के गुप्ता, विवेक पांडेय,राजेंश गोस्वामी,भोला दूबे, पीडी राय, सुरेंद्र सिंह,संजय यादव,सनोज तिवारी,जगदीश तिवारी,राकेश अग्रहरि,राजबंश चौबे,सय्यद आरिफ,मनोज चौबे,शशी चौबे,सौरभ गोस्वामी,संतोष सिंह,मुस्ताक अहमद,पार्वती पांडेय,चिंता पांडेय,महेश पांडेय,दीनानाथ शर्मा,शमसाद आलम,अरविंद कुशवाहा,संतोष विश्वकर्मा,नीरज भाटिया,आलोकपति तिवारी,अभिषेक शर्मा,संजय चेतन इत्यादि पत्रकार उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!