प्रधानों का आरोप अतिक्रमण की शिकायत पर नहीं मिलता पुलिस का सहयोग

11 सितम्बर 2019

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज नगर स्थित नवीन मंडी समिति परिसर में गोपीनाथ गिरी की अध्यक्षता में ग्राम प्रधान संघ का महासम्मेलन आयोजित किया गया। इस दौरान सरकार द्वारा प्रधानों के अधिकारों में की गई कटौती व समस्याओं पर चर्चा हुई। कार्यक्रम के अंत में प्रधानों ने मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी को मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपकर प्रधान हित में समस्याओं के निस्तारण की मांग की।
प्रधानों ने बताया कि ग्रामसभा की सभी संपत्ति के रखरखाव व सुरक्षा की जिम्मेदारी भूमि प्रबंधक समिति की होती है और इस समिति की अध्यक्ष प्रधान होता है। प्रदेश प्रवक्ता ललित कुमार ने बताया कि सरकारी जमीन पर अतिक्रमण की शिकायत पुलिस से की जाती है लेकिन पुलिस यह कहकर मामले को टाल जाती है कि एसडीएम का आदेश लेकर आएं तब कार्यवाही की जाएगी लेकिन जब तक एसडीएम का आदेश आता है तब तक ग्राम सभा की संपत्ति पर अतिक्रमण हो चुका होता है।

ग्राम पंचायत क्षेत्र के अंदर ग्रामसभा की जमीन, चकरोड, नाला, बंजरभूमि, खलिहान, मरघट, कब्रिस्तान, तालाब आदि का संपत्ति रजिस्टर लेखपालों से बनवाकर ग्राम प्रधानों को उपलब्ध कराया जाए जिससे कि प्रधानों को ग्रामसभा के जमीनों की जानकारी हो सके। वहीं प्रधान संगठन ने भूमि प्रबंधक समिति की बैठक जल्द से जल्द कराने की भी माँग की। ग्राम प्रधानों ने ग्रामसभा में जमीनों की खरीद फरोख्त व बैनामा आदि के स्टांप विक्रय का दो प्रतिशत राशि ग्राम सभा कोष में जमा कराए जाने की माँग किया।

प्रधानों ने सम्मेलन में इसके अलावा भी अन्य कई मांगों को मुख्य विकास अधिकारी के सामने रखा। मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी ने प्रधानों को उनकी समस्या मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। इस मौके पर मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी के अतिरिक्त जिला पंचायत राज अधिकारी आर0के0 भारती, विशिष्ट अतिथि प्रदेश प्रवक्ता ललित कुमार, राजकुमार सिंह, मोहन पांडेय, जयहिन्द, सुशील पांडेय समय भारी संख्या में प्रधान मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
Back to top button