मोहर्रम के गमगीन माहौल में पाक सरज़मी पर दफन हुये ताजिया

10 सितम्बर 2019

मुमताज़ खान (संवाददाता)


-गुरूर टूट गया कोई मर्तबा ना मिला

-सितम के बाद भी कुछ हासिल जफा ना मिला

-सर-ऐ-हुसैन मिला है यजीद को लेकिन शिकस्त यह है की फिर भी झुका हुआ ना मिला


सुकृत। मोहर्रम के मौके पर सुकृत क्षेत्र के तकिया में इमाम हुसैन औऱ उनके 72 साथियों की शहादत की याद में बेहद गमगीन माहौल में कर्बला की पाक सरज़मी पर ताजिए दफन किया गए. इस मौके पर पुरे क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम रहा।तकिया में इमाम हुसैन की शहादत की याद में बीते 10 दिनों से चल रहे मोहर्रम के आख्रिरी दिन तकिया में विभिन्न स्थानों पर रखी गई ताजिया को भी बेहद गमजदा माहौल में कर्बला की पाक सरज़मीं पर दफन किया गया वहीँ इस गमगीन माहौल में आज मुस्लिम समुदाय ने तकिया कर्बला में ताजिये दफ़न किये गए।

कल शाम से ही सुकृत तकिया लोहरा व बट्ट में ताज़िये अपने अपने चौक पर रखे गए थे।
तकिया व सुकृतमें देर रात तक मातम मर्सिया नौहा के साथ फन ए सिपहगिरी के करतब अखाड़ो में दिखाए गए।

आज पुनः सुकृत लोहरा व बट की ताज़िया तकिया पहुची। जहाँ पर विभिन्न अखाड़ो के खिलाड़ियों ने युद्ध कला कौशल का प्रदर्शन किया । खिलाड़ियों ने बना पटा तलवार बनेठी डंडा लाठी तलवार फरी से करतब दिखा कर लोगो को हैरत में डाल दिया।अकीदत मन्दो ने खीचड़े का लंगर भी बाटा और सबील भी पिलाया।

गांव से कर्बला पहुची जहाँ कर ताजिया को सुपुर्द-ए-खाक किया गया. सकृत पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये थे। इस मौके पर उस्ताद खलीफा अलीम खान रियाज़ खान,एकबाल खान मुश्ताक खान इसहाक खान,अनवर अली मतिउल्ला हकीमुल्ला अब्बास अली,शमसुद्दीन, शबान, इब्राहिम, महमूद आलम एकबाल प्रधान अलगुराम सोनकर सुरेश, सुखराम गुप्ता जी, अमित सोनकर रामकेश पनिका, सरफ़राज़ खान, मुहम्मद सईद खान, शाहिद रज़ा, शमशाद, इमरान, अलीम शाह, इबादत शाह, अहमद शाह, बैरिस्टर, और सैकड़ो लोग मौजूद थे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!