सजदे में सर कटा दिया मेरे हुसैन लेकिन झुका न झुठे खुदा के सामने

10 सितम्बर 2019
भाष्कर चतुर्वेदी (संवाददाता)

-नब्बे फिट की ताजिया आकर्षक का केन्द्र

– मातम व गम के माहौल मे निकला मुहर्रम का जुलूस
-दजर्नों अखाड़ों से चौतीस ताजिया को करबला मे किया गया ठंडा

आसनडीह। बभनी थाना क्षेत्र मे मातमी व गम के साथ मुहर्रम का जुलूस निकला जिसमें बभनी ,बडहोर, चपकी पोखरा, बरवाटोला असनहर के दजर्नों अखाड़े से कुल चौतीस ताजिया जुलूस मे सामिल हुयी जहा रास्ते मे मुस्लिम समुदाय के लोगो ने मातम आसुओं के साथ इमाम हुसैन की शहादत को याद कीया करबला के मैदान मे जहाँ एक तरफ यजीद की लाखों फैज की ,वही दुसरी तरफ इमाम हुसैन के परिवार के बहत्तर लोग थे ।

फिर भी उन्होंने ने अधर्म के खिलाफ जाना गवारा न था सजदे में सर कटा कर इस्लाम को बचाया । सारी दुनिया को मुहब्बत का पैगाम दिया । जुलूस मे जहाँ लोग या हुसैन या अली की सजदे बुलंद कर रहे थे वही गमगीन औरते मसीहा पढ रही थी ,लोगो ने डडे व तलवार बाजी के एक से बढ़कर एक करतब दिखाया । बभनी का मुहर्रम देखने के लिए कई प्रदेशों से लोग आते ।गमगीन माहोल मे साम को सभी ताजिया को करबला मे ठंडा किया गया । त्योहार केमध्ये नजर सुरक्षा के कडे इन्तजार थे ।

बभनी कोतवाल मय फोर्स हर जगह पैनी निगाह रखे हुए थे । जुलूस मे गंगा जमुनी तहजीब भी देखने को मिली जहा काफी संख्या मे दुसरे समुदाय के लोगो ने जिसमे जुगल किशोर चतुर्वेदी, उमेश चनद पाण्डेय, पवन कुमार ,सुखसागर यादव आदि ने मुस्लिम समाज के लोगों खैरमकदम कीया जुलूस मे पूर्व ब्लॉक प्रमुख कासीम हुसैन, आरिफ ,अनवर, अब्दुल कुदुश आदि प्रमु रुप से रहे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!