इम्तियाज हत्याकांड में आया नया मोड़, जांच अब एटीएस भी करेगी

07 सितम्बर 2019

घनश्याम पाण्डेय/विनीत शर्मा(संवाददाता)

चोपन। स्थानीय नगर पंचायत अध्यक्ष इम्तियाज अहमद की हत्या के मामले की जांच में अब एक नया मोड़ आ गया है। इस जांच में सीबीसीआईडी के अलावा मुख्यमंत्री के आदेश पर अब एटीएस भी इस मामले की जांच करेगी।

बताते चले की 25 अक्टूबर 2018 को चोपन नगर पंचायत के चेयरमैन इम्तियाज अहमद की ग्रेवाल पार्क प्रितनगर में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जे जे एम पी के उग्रवादियों द्वारा कार्बाइन से गोली मारकर

हत्या कर दी गई थी । घटना के बाद पुलिस ने एक हमलावर को उक्त प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जे जे एम पी के एरिया कमाण्डर काश्मीर कुमार उर्फ रॉकेट को कार्बाइन व जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार किया था। इस मामले में कई को आरोपित बनाया गया था। हत्या, षडयंत्र जैसे मामलों मे मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने विवेचना की विवेचना के दौरान ही शासन द्वारा सीबीसीआईडी जांच का आदेश हो गया। फिलहाल सीबीसीआईडी के जांच के दौरान ही इम्तियाज के छोटे भाई उष्मान अली ने मुख्यमंत्री को पत्र के माध्यम से अवगत कराया कि मामला नक्सलियों से जुड़ा है ।

उसके बाद भी हमारे मामले की जांच को एनआईए से न कराकर सीबीसीआईडी से कराई जा रही है जिसको गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने इस मामले की जांच को एटीएस को भी सौंप दी। मुख्यमंत्री के आदेश पर गुरुवार की दोपहर एटीएस की टीम अचानक चोपन आ धमकी। टीम ने घटना स्थल का मौका मुआयना कर आवश्यक पहलुओं पर गंभीरता से जांच लिया और इस घटना से जुड़े वादी और वादी के वकील से मुलाकात कर बयान दर्ज किया तथा गवाहों से भी पूछताछ की । बाद में टीम अपने गंतव्य की तरफ रवाना हो गई।

वही सूत्रों की माने तो दूसरी तरफ इम्तियाज हत्याकांड में सीबीसीआईडी के लिपापोती को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने संज्ञान में लेते हुए नोटिस जारी कर सीबीसीआईडी के विवेचना अधिकारी से पूछा है कि किन परिस्थितियों में उसने धारा 6 नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी एक्ट 2006 का अनुपालन अभी तक नहीं किया है एवं सीजेएम के आदेश 22-12-2018 का अनुपालन अभी तक क्यों नहीं किया गया । जिस पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने सीबीसीआईडी के विवेचना अधिकारी से 12 सितम्बर तक स्पष्टीकरण मांगा है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!