Health Tips: लाल बुरांश का फूल हैं ओषधियों का भंडार, अनेकों हैं फायदे,जानें


उत्तराखंड के पहाड़ों पर खिलने वाला लाल बुरांश का फूल न सिर्फ दिखने में बेहद खूबसूरत लगता है बल्कि सेहत के लिहाज से भी कई मायनों में खास होता है। गर्मियों में लू, खांसी, बुखार जैसी बीमारियों को दूर भगाने के लिए यह दवा जैसा ही काम करता है। बुरांश के फूलों से तैयार जूस व अन्य उत्पादों का सेवन करने से आपके दिल की सेहत बने रहने के साथ शरीर में खून की कमी भी दूर होती है। आइए जानते हैं इस फूल के ऐसे ही कुछ जादुई औषधीय गुण।

दिल की सेहत:
रोडोडेन्ड्रोन प्रजाति के इस पेड़ में सीजनल बुरांश के लाल, सफेद, नीले फूल लगते हैं। लाल फूल औषधिय गुणों से भरपूर हैं। खास कर हृदय रोग से पीड़ित लोग यदि प्रतिदिन एक गिलास बुरांश का जूस पीने से दिल के रोग ठीक होते हैं।

शरीर में खून की कमी को करता हैं दूर:
शारीरिक विकास या फिर शरीर में खून की कमी को बुरांश का जूस दूर करने का काम करता है।
कोलेस्ट्रॉल ही नहीं ब्लड प्रेशर भी रखता है कंट्रोल:
बुरांश के फूल न सिर्फ ह्दय रोगियों के लिए फायदेमंद हैं बल्कि इसका नियमित सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को भी राहत मिलती है। बुरांश के जूस में पॉली फैटी एसिड की मात्रा अधिक होने की वजह से यह शरीर में जाकर अधिक कोलेस्ट्रॉल नहीं बनने देता। जिसकी वजह से व्यक्ति को ह्दय संबंधी बीमारियां होने का खतरा काफी कम हो जाता है।

बदलते मौसम में आपको बनाए रखे सेहतमंद:
इस फूल में मौजूद विटामिन बी कॉम्प्लेक्स की वजह से बदलते मौसम में होने वाली कई बीमारियां जैसे खांसी, बुखार में बुरांश का जूस दवा जैसा काम करता है।

लीवर संबंधी रोग दूर रखता है:
बुरांश के जूस का सेवन करने से लीवर संबंधी रोग नहीं होते। इसके अलावा शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि होती है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!