वरासत के लिए तीन वर्ष से दौड़ा रहे तीन लेखपाल निलम्बित, हड़कम्प

04 सितंबर 2019

ऋषभ दुबे (संवाददाता)

मड़िहान । स्थानीय तहसील में मंगलवार को आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस पर खटखरिया गांव निवासी कमलेन्द्र प्रसाद द्विवेदी द्वारा पत्नी की मौत के तीन वर्ष बाद भी वरासत न करने की शिकायत दिया था। जिस पर एसडीएम विमलकुमार दूबे ने लेखपाल को निलम्बित करने के लिए राजस्वनिरिक्षक से रिपोर्ट मांग लिया है। जिसमें फरियादियों की शिकायती पत्रों का मौके पर निस्तारण किया गया।बाकी समस्यायों को निस्तारित करने के लिए सम्बंधित विभाग के प्रभारियों को एक पखवाड़े का समय दिया गया।
खोराडीह खटखरिया गांव निवासी कमलेन्द्र प्रसाद द्विवेदी की पत्नी मंजू देवी के नाम से तीन गांव में जमीन थी। पत्नी की मौत के बाद पति वरासत के लिए तीन वर्ष से चक्कर काट रहा है। लेखपाल से आजिज आकर पीड़ित ने सम्पूर्ण समाधान दिवस पर शिकायत किया कि पत्नी मंजू देवी की मौत के तीन वर्ष बाद भी वरसात नही हुआ।पीड़ित ने बताया कि पैसे के लिए उसे बार बार तहसील दौड़ाया जा रहा है।जब कि लेखपाल राहुल सोनकर वरासत के एवज में पैसे के लिए अड़ा हुआ है।
मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रथम दृष्टया लेखपाल को दोषी मानते हुए उपजिलाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।इस सम्बन्ध में कार्यवायी के लिए राजस्वनिरिक्षक से रिपोर्ट मांग लिया गया।इस सम्बन्ध में हल्का लेखपाल ने अपने को बचाव करते हुए बताया कि मृतका का प्रमाणपत्र मांगा गया था जो कि अभी तक उपलब्ध नही कराया जा सका।साक्ष्य के अभाव में वरासत रुका है। हलाकि उपजिलाधिकारी की कार्यवायी से तहसील कर्मियों में हड़कम मचा हुआ है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!