अनिल कपूर ने किया अपने संघर्ष के दिनों को याद

बॉलीवुड सुपरस्टार अभिनेता अनिल कपूर ने अपने संघर्ष के दिनों को याद किया और कहा कि मुख्यधारा के हीरो के रूप में उनकी पहली फिल्म ‘वो सात दिन’ उनके लिए जिंदगी बदलने वाले क्षण थे और इस फिल्म में उनकी भूमिका भी उनके लिए जिंदगी बदलने वाली थी।

अनिल ने सोमवार को 1983 में बने इस फिल्म के सेट की एक तस्वीर को ट्विटर पर साझा किया। उन्होंने तस्वीर के कैप्शन में लिखा, “1977 से 1983 तक मैं काम कर रहा था…एक अच्छे अवसर को पाने के लिए संघर्ष कर रहा था जो सबकुछ बदल दे और ‘वो सात दिन’ वो अवसर था। एक जिंदगी बदलने वाला क्षण और भूमिका।”

अनिल कपूर अभिनेता ने कहा कि उसके बाद से उनका करियर उनके लिए सपनों के सच होने जैसा बन गया। उन्होंने कहा, “उसके बाद से यह सब सपनों के सच होने जैसा है! आज की तारीख में मैं जो कर रहा हूं उसके लिए मैं खुद को भाग्यशाली महसूस करता हूं।”

फिल्म ‘वो सात दिन’ का निदेर्शन सत्ताईराजू लक्ष्मी नारायण ऊर्फ बापू ने किया था। फिल्म में अनिल के अलावा पद्मिनी कोल्हापुरे, नसरुद्दीन शाह थे। फिल्म में संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने दिया था।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!