मतदाता पुनरीक्षण के लिए राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों के साथ आयोजित समन्वय बैठक सम्पन्न

31 अगस्त 2019

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । राजनैतिक दल के पदाधिकारीगण भारत निर्वाचन अयोग के दिशा-निर्देशों का अनुरूप अर्हता दिनांक 01 जनवरी 2020 के आधार पर विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण एवं पुनरीक्षण पूर्व मतदाता सत्यापन कार्यक्रम में सकारात्मक सहयोग करें। समय रहते किसी भी संभाजन के लिए अपना प्रस्ताव तीन दिनों के अन्दर जिला निर्वाचन कार्यालय, सोनभद्र को उपलब्ध करा दें। लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए निर्वाचन पुरीक्षण व मतदाता सत्यापन कार्य में सहयोग करके बेहतरीन मतदाता सूची व मतदान व्यवस्था के सहयोगी बनें। उक्त बातें जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी एस0 राजलिंगम व अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह ने राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों के साथ आयोजित समन्वय बैठक में कहीं। वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के राजनैतिक दलों के पदाधिकारी 01 जनवरी 2020 के आधार विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण एवं पुनरीक्षण पूर्व मतदाता सत्यापन कार्यक्रम के लिए अपने बूथ लेबिल एजेन्टों की तैनाती करते हुए भारत निर्वाचन आयोग के मंशा के अनुरूप कार्यक्रम को सफल बनायें। इस मौके पर उन्होंने विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम, पुनरीक्षण पूर्व मतदाता सत्यापन कार्यक्रम के कार्यक्रम को विस्तार से बताया।

उन्होंने कहा कि मतदाता सत्यापन कार्यक्रम को 01 सितम्बर से 31 सितम्बर 2019 तक घर-घर जाकर सत्यापन किया जायेगा। उन्होने मतदेय स्थल के सम्भाजन के सम्बन्ध में कहा कि जिन मतदेय स्थलों पर मतदाताओं की संख्या 1 हजार 500 से अधिक है, वहां पर मतदान स्थल बढ़ायें जायेगें। उन्होंने विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के सम्बन्ध में कहा कि विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण में भी सभी का सहयोग अपेक्षित है। इस मौके पर जिला निर्वाचन अधिकारी एस0 राजलिंगम के अलावा अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह व राजनैतिक दलों के पदाधिकारीगण आदि मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!