स्वामी चिन्मयानंद मामला : लड़की की सुरक्षा की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस के हाथों

30 अगस्त 2019

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली लड़की इस वक्त सुप्रीम कोर्ट में है । मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो रही है । जस्टिस आर भानुमति और जस्टिस बोपन्ना की बेंच ने कहा कि हमने लड़की से मुलाकात की है । लड़की ने सभी सवालों के जवाब दिए. लड़की अपने कॉलेज के मित्र के साथ उत्तर प्रदेश से बाहर गई थी । वो वापस यूपी आना चाहती थी. वो दिल्ली में ही रहना चाहती है ।

बेंच ने कहा कि लड़की दिल्ली में ही अपने माता-पिता से मिलना चाहती है. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को सुरक्षा के लिए इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। वहीं लड़की के वकील ने कहा कि लड़की अपने पिता से बात करना चाहती है.

एडिशनल सॉलिसिटर जनरल विक्रमाजीत बनर्जी से जस्टिस भानुमति ने कहा कि हम लड़की की सुरक्षा को लेकर फिक्रमंद हैं. लडक़ी को दिल्ली पुलिस की सुरक्षा मुहैया कराई जाए. इस बाबत पुलिस कमिश्नर को बता दिया जाए.

कोर्ट के आदेश के बाद लाया गया

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लड़की को अदालत में लाया गया है. एडिशनल सॉलिसिटर जनरल विक्रमाजीत बनर्जी सुनवाई में योगी सरकार का प्रतिनिधित्व किया.

लड़की को राजस्थान से एक लड़के के साथ यूपी पुलिस ने बरामद किया. लड़के का नाम संजय सिंह है और वह शाहजहांपुर के सुखदेव कॉलेज में एलएलबी का स्टूडेंट है. संजय लापता लड़की के साथ था.

शाहजहांपुर मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती दिखाई थी. सर्वोच्च अदालत ने कहा था कि लड़की को सुप्रीम कोर्ट लेकर आइए, कोर्ट रूम में सिर्फ लड़की को आने की इजाजत मिलेगी.

किसी भी प्रेस वाले को उस लड़की से मिलने की इजाजत नहीं दी जाएगी. पहले वकीलों ने कोर्ट से कहा था कि लड़की अभी फतेहपुर सीकरी में है, जिसपर अदालत ने उन्हें दिल्ली लाने का आदेश दिया.

शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज में पढ़ने वाली लापता लड़की के माता-पिता ने 27 अगस्त को कॉलेज के निदेशक और बीजेपी नेता स्वामी चिन्मयानंद पर अपहरण का मामला दर्ज कराया था. इससे पहले लड़की ने स्वामी चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था.



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!