कस्तूरबा गांधी आवाीसय विद्यालय का जिलाधिकारी ने किया औचक निरीक्षण

29 अगस्त 2019

दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत । जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव द्वारा कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा बच्चों को प्रतिदिन निर्धारित मेन्यू के अनुसार भोजन न दिये जाने पर असंतोष व्यक्त किया गया। बच्चों को प्रतिदिन नास्ते में अण्डे व फल नही वितरित किये जाने पर वार्डन से स्पष्टीकरण मांगा गया। निरीक्षण के दौरान स्टोर रूम में बच्चों को दैनिक प्रयोग हेतु वितरित की जाने वाली सामग्री कई महीनों से वितरित नही की गई थी।

बच्चों को नहाने का साबुन, ब्रश, तेल, कन्घी, मंजन, नैपकीन, लेखन सामग्री से सम्बन्धित वस्तऐं काफी मात्रा में स्टाक में रखा था परन्तु बच्चों को वितरित नही किया गया। निर्धारित मानकों के अनुरूप सामग्री की गुणवत्ता नही पाई गई, साबुन, शैम्पू व अन्य सामाग्री निर्धारित मानक के अनुसार नही प्राप्त हुई। स्टाक रूम में बिस्कुट व रस के पैकेट काफी मात्रा में पाये जो काफी समय से बच्चों को वितरित नही किये जा रहे थे।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा बच्चों को प्रतिदिन दिये जाने वाले भोजन में प्रयोग की जा रही सामग्री का भी निरीक्षण किया गया। जिसमें निर्धारित मानक के अनुरूप सरबती चावल के स्थान पर मंसूरी का टूटा हुआ चावल का उपयोग किया जा रहा था तथा बच्चों को निर्धारित मात्रा के अनुरूप दूध नही दिया जा रहा था, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा असंतोष व्यक्त करते हुये जिला समन्वयक मनीष श्रीवास्तव को स्पष्टीकरण देने के साथ साथ निर्धारित मानकों एवं चयनित पूर्ति एजेंसी से सम्बन्धित पत्रावली व किये गये टेण्डर के सम्बन्ध में पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

निरीक्षण के दौरान स्नान घर व शौचालयों में अत्यधिक गन्दगी पाई गई व छत से पानी भी टपक रहा था, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा सहायक अभियन्ता लोक निर्माण विभाग को स्नान घर व शौचालय में टाइल्स व मेंटीनेंश का स्टीमेट तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। छात्रावास के निरीक्षण के दौरान कमरों में कुछ पंखे खराब पाये तथा सभी कक्षों में एक ही कूलर पाया गया जिस पर जिलाधिकारी द्वारा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि सभी आवासीय कक्षों में कम से कम दो कूलर लगाना सुनिश्चित किया जाये। निरीक्षण के दौरान बच्चों द्वारा स्वयं बर्तन साफ करते पाये गये और उनको बर्तन साफ करने हेतु साबुन भी उपलब्ध नही कराया गया जिस पर डीएम द्वारा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को इस सम्बन्ध में वार्डन के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान नगर मजिस्ट्रेट ऋतु पूनिया, उप जिलाधिकारी वन्दना त्रिवेदी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेन्द्र स्वरूप, खण्ड शिक्षा अधिकारी सहित अन्य अधिकारी/कर्मचारी उपिस्थत रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!