ग्रामीणों ने किया पीएचसी बीजपुर में स्थायी चिकित्सक के नियुक्ति की माँग

27 अगस्त 2019

मुकेश अग्रवाल (संवाददाता)

बीजपुर । आयुष्मान भारत वेलनेस सेंटर बीजपुर पुनर्वास प्रथम क्षेत्रीय मरीजों के लिए मात्र शोपीस बनकर रह गया है। डॉक्टर के तैनाती के बाद आज तक उपस्थित नहीं होने से मरीज चक्कर लगा-लगा कर परेशान हो रहे हैं और मजबूरन झोलाछाप डॉक्टरों से इलाज कराने के लिए विवश होते है। क्षेत्रीय लोगों ने आयुष्मान भारत हेल्थ एण्ड वेलनेस केंद्र बीजपुर पुनर्वास प्रथम पर चिकित्सक तैनात किए जाने की मांग की है। ग्रामीण हरेंद्र, योगेंद्र, उमेश, शिव प्रकाश आदि ने बताया कि इस केंद्र पर तैनाती के बाद से आज तक स्थाई चिकित्सक केंद्र पर नहीं आए। इसकी शिकायत दुद्धी विधायक हरिराम चेरो ने जनपद दौरे पर आए स्वास्थ्य एवमं चिकित्सा मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह से किया था लेकिन बावजूद इसके आज तक इस पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। केंद्र पर अस्थाई चिकित्सक की तैनाती तो है लेकिन ग्रामीणों ने इन पर ड्यूटी से गायब रहने का आरोप लगाया। केंद्र पर मरीजों के खून जाँच का कोई उपकरण भी नहीं है जो मरीजों के खून आदि की जाँच हो सके।

बरसात के इस मौसम में वायरल फीवर, सर्दी, जुकाम, खांसी के मरीजो की बाढ़ सी आ गई है। सरकारी स्वास्थ्य केंद्र बीजपुर मात्र पीड़ितों के लिए शोपीस बनकर रह गया है।सरकार ग्रामीण अंचलों के बीमार लोगों के लिए स्वास्थ्य सुविधा मुहैया करा रही है लेकिन सरकारी कर्मी अपने दायित्व का निर्वहन ही नही करते इससे सरकार की छवि पर बुरा असर पड़ रहा है।क्षेत्रीय लोगो ने शासन-प्रशासन से जाँच कर सख्त कार्यवाही किए जाने की मांग की है।

उक्त प्रकरण पर जब जनपद न्यूज़ लाइव के मुख्यालय संवाददाता आनन्द कुमार चौबे ने मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 एस0पी0सिंह से बात किया तो उन्होंने बताया कि इस प्रकरण की जानकारी नहीं थी, इस प्रकरण की जाँच कर कार्यवाही की जाएगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!