नीति आयोग के पैरामीटर पर काम करना शुरू कर दें अधिकारी: जूथिका पाटंकर

26 अगस्त 2019

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिले को पिछडेपन से दूर करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि जिले के नागरिकों के शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, कृषि, कौशल विकास, वित्तीय समावेश के साथ ही आधाभूत संरचनाओं पर विशेष ध्यान देकर उनको उबारा जाय। जिससे लोगों के अन्दर जागरूकता पैदा हो और जिले के विकास का क्रम परस्पर बढ़ता रहें, ताकि सोनभद्र जिला आगामी दिनों मेंं पिछड़ेपन की श्रेणी से बाहर होकर विकासशील जिलों की श्रेणी में शामिल हों। उक्त बातें एडिशनल सेक्रेटरी कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय भारत सरकार/नोडल अधिकारी नीति आयोग, सोनभद्र जूथिका पाटंकर ने नीति आयोग के पैरामीटरों पर किये जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में आज सम्बन्धितों को दियें। नीति आयोग के पैरामीटर से जुड़ी समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने जिले के विकास के लिए चलायी जा रही योजनाओं विशेषकर नीति आयोग के निर्देशानुसार स्वास्थ्य और पोषण, शिक्षा, कृषि, कौशल विकास, वित्तीय समावेश व आधारभूत संरचनाओं पर किये जा रहे कार्यों की प्रगति के बारे मेंं जानकारी देते हुए आगामी दिनों में कार्यों को शत-प्रतिशत पूरा करते हुए जिले को पिछड़ेपन की श्रेणी से बाहर करने सम्बन्धी किये जा रहे प्रयासों पर रोशनी डाली।

बैठक में मौजूद मुख्य विकास अधिकारी ने नीति आयोग के निर्देशानुसार शुरू से अब तक कराये गये कार्यों और कराये जा रहे कार्यों के बारे में जानकारी दी। समीक्षा बैठक में एडिशनल सेक्रेटरी कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय भारत सरकार/नोडल अधिकारी नीति आयोग,सोनभद्र जूथिका पाटंकर ने कहा कि स्थानीय रोजगार, कौशल विकास के लिए गुणवत्तपूर्ण प्रशिक्षण के साथ ही रोजगार से नागरिकों को जोड़ा जाय। बेहतर शिक्षा व कृषि विकास के साथ ही बेहतर स्वास्थ्य और पोषण सेवाएं मानक के अनुरूप पात्रों को मुहैया कराया जाय। उन्होंने कहा कि वित्तीय समावेश व आधारभूत संरचनाओं पर विशेष ध्यान दिया जाय। मौके पर मौजूद जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने एडिशनल सेक्रेटरी कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय भारत सरकार/नोडल अधिकारी नीति आयोग, सोनभद्र जूथिका पाटंकर को भरोसा दिलाते हुए कहा कि भारत सरकार व प्रदेश की शासन की मंशा के अनुरूप प्रयास जारी हैं।

सोनभद्र जिले को पिछड़ेपन की श्रेणी से बाहर लाये जाने के कार्यों को पूरा होते ही सोनभद्र जिला नीति आयोग के निर्देशानुसार चतुर्दिक विकास का आयाम को पूरा करते हुए प्रदेश व देश के अग्रणी जिलों में शामिल होगा।समीक्षा बैठक में एडिशनल सेक्रेटरी कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय भारत सरकार/नोडल अधिकारी नीति आयोग, सोनभद्र जूथिका पाटंकर, जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 एस0पी0 सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ0 गोरखनाथ पटेल, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह, उपायुक्त कौशल विकास मिशन के साथ ही अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहें।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!