UPSRTC के सभी बस स्टेशन नवंबर से “माताओ और नवजात शिशु फ्रेंडली सुविधाओं से होगी लैस

25 अगस्त 2019

यूपीएसआरटीसी के सभी बस स्टेशन नवंबर 2019 से
“माताओ और नवजात शिशु फ्रेंडली सुविधाओं से पूरी तरह से लैस हो जाएंगे।

1- यूपीएसआरटीसी अपने सभी बस स्टेशनों को “स्तनपान कराने वाली माँ और नवजात शिशु के अनुकूल” बनाने के उद्देश्य से “ब्रेस्ट फीडिंग क्यूबिकल्स / कियोस्क (बेबी फीडिंग क्यूबिकल्स)” स्थापित करने का निर्णय लिया है।

2- यूपीएसआरटीसी पिछले कुछ वर्षों में इसकी काफी आवश्यकता महसूस की जा रही थी। अब इसके महत्व और आवश्यकता को देखते हुए,यूपीयसारटीसी बोर्ड ने निगम के प्रत्येक बस स्टेशन में “ब्रेस्ट फीडिंग क्यूबिकल्स / कियोस्क (बेबी फीडिंग क्यूबिकल्स)” स्थापित करने की परियोजना को मंजूरी दे दी है।

3- यूपीएसआरटीसी ने इस “विशेष परियोजना” के तहत यूपीएसआरटीसी बसों में यात्रा के दौरान स्तनपान कराने वाली माताओं और नवजात बच्चों के “सम्मान और गरिमा” के लिए 2.5 करोड़ आवंटित किया है

4- कुल 242 बस स्टेशन चालू हैं। इन 242 में से चुनिंदा 23 बस स्टेशनों को पीपीपी मॉडल डेवलपमेंट के तहत लिया गया है। यूपीएसआरटीसी बोर्ड ने मानक आवश्यकताओं के अनुसार उपरोक्त 23 पीपीपी मॉडल बस स्टेशनों में “ब्रेस्ट फीडिंग रूम (बेबी फीडिंग रूम”) के प्रावधान को शामिल किया है।

5- बाकी 219 बस स्टेशनों के लिए यूपीयसारटीसी अगले 3 महीनों में बेबी फीडिंग क्यूबिकल्स का निर्माण प्राथमिकता पर करेगा।

6- यूपीएससारटीसी मुख्यालय “बेबी फीडिंग क्यूबिकल्स” के लिए ड्राइंग, डिज़ाइन और विशिष्टताओं को अंतिम रूप दे चुका है। अगले 3 महीनों में इसे स्थापित करने के लिए सभी क्षेत्रीय प्रबंधकों को अधिकृत किया जाएगा।
इसके लिए यूपीएसआरटीसी मुख्यालय द्वारा सभी क्षेत्रीय प्रबंधकों को आवश्यकता अनुसार बजट आवंटित किया जाएगा।

7- इन अत्याधुनिक डिज़ाइन क्यूबिकल्स में 2 बेबी फीडिंग केबिन और एक प्रसाधन केबिन होगा। गोपनीयता और गरिमा बनाए रखने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएँ की जाएंगी।

8- इन क्यूबिकल्स के बेहतर उपयोग के लिए सभी उपयुक्त स्थानों पर इससे संबंधित हिंदी और अंग्रेजी में आवश्यक संकेत भी प्रदर्शित किए जाएंगे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!