उभ्भा नरसंहार पर, मजदूर किसान मंच की हुई बैठक

24 अगस्त 2019

कृपाशंकर पांडे (संवाददाता)

ओबरा। आदिवासी किसानों के हुए उभ्भा नरसंहार पर आज मजदूर किसान मंच की पुस्तिका ओबरा कार्यालय में हुई बैठक में जारी की गयी। इस पुस्तिका में उभ्भा नरसंहार के बाद जमीन के सवाल को हल करने के लिए प्रदेष में भूमि आयोग के गठन के लिए अखिलेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा मुख्यमंत्री और विपक्षी दलों के नाम भेजे पत्रों को छापा गया है। मुख्यमंत्री को सम्बोधित पत्र में कहा गया है कि मिर्जापुर, सोनभद्र और खासकर चंदौली के चकिया व नौगढ़ क्षेत्र भूमि प्रष्न पर संघर्ष और हिंसा के इलाके रहे है।

पत्र में आगे कहा गया है कि इस पूरे क्षेत्र में जमीन के सवाल को लेकर कई बार हिंसक झड़पें हुई है, ढेर सारे लोग मारे गए है। इसलिए सरकार से मांग की गयी है कि वह भूमि के सवाल को हल करे क्यांेकि यही विकास, रोजगार, सामाजिक न्याय दिलाने की कुंजी है। पत्र में विपक्षी दलों से भी अपील की गयी है कि भूमि आयोग के गठन और वनाधिकार कानून ईमानदारी से लागू हो के लिए वे प्रदेष सरकार पर दबाब डाले। पत्र में उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेष में वनाधिकार कानून के तहत जमा 92433 दावों में से 73416 दावें जिनमें अकेले सोनभद्र में 65526 में से 53506 दावें बिना सुनवाई का अवसर दिए और दावेदार को सूचित किए खारिज कर दिए गए थे।

इन दावों पर हाईकोर्ट के आदेष के बावजूद प्रषासन पुष्तैनी बसे हुए आदिवासियों और वनाश्रितों को जमीन दिलाने और पट्टा देने की जगह जमीनों से बेदखल कर रहा है। उभ्भा गांव और सोनभद्र, मिर्जापुर और चंदौली के नौगढ़ पर टिप्पणी को प्रकाषित किया गया है। बैठक की अध्यक्षता स्वराज अभियान के जिला संयोजक कांता कोल ने और संचालन कृपा शंकर पनिका ने किया।
बैठक में लिए राजनीतिक सोनभद्र, मिर्जापुर और चंदौली के नौगढ़ में ‘जमीन, रोजगार और सहकारी कृषि‘ को प्रमुख राजनीतिक सवाल बनाने के लिए 26 सितम्बर को राबर्ट्सगंज में सम्मेलन करने का निर्णय लिया गया।

इस सम्मेलन में वनाधिकार कानून को लागू करने, कोल के आदिवासी दर्जे, धांगर के एससी दर्जे की बहाली, किसानों को ब्याज मुक्त कर्ज देने व गुण्डा एक्ट जैसे काले कानूनों के खात्में के मुद्दों पर प्रस्ताव लिया जायेगा। बैठक में स्वराज इंडिया के नेता दिनकर कपूर, राजेष सचान, पूर्व जिला पंचायत सदस्य मुन्ना धांगर, रामाधार धांगर, तेजधारी गुप्ता, मंगरू प्रसाद श्याम, राजेन्द्र प्रसाद गोंड़, राजेन्द्र सिंह गोंड़, षिव प्रसाद गोंड़, महेन्द्र प्रताप सिंह, मनोज भारती, रमेष खरवार, इंद्रदेव खरवार, मोहन प्रसाद, रामदेव गोंड़ आदि लोग उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!