भगवान श्रीकृष्ण ने जितनी भी की लीलाएं,वह सभी में रहे प्रेरणादायक


भगवान श्रीकृष्ण महायोगी थे। उनके द्वारा सिखाई बातें आज भी प्रासंगिक हैं और सफलता की ओर ले जाती हैं। उनका नाम जपने मात्र से मन के विकार समाप्त हो जाते हैं। सकारात्मकता और जीवन में आगे बढ़ने की शक्ति प्राप्त होती है। भगवान श्रीकृष्ण ने जितनी भी लीलाएं कीं, वह सभी में प्रेरणादायक रहे। आज भी माना जाता है कि गीता की सौगंध खाने के बाद व्यक्ति न्यायालय में असत्य वचन नहीं बोलेगा।

भगवान श्रीकृष्ण ने अवसर के अनुसार अपनी भूमिका बदली और मार्गदर्शक बने। पांडवों का साथ हर मुश्किल वक्त में दिया। उन्होंने संदेश दिया कि दोस्त वही जो कठिन से कठिन परिस्थिति में आपका साथ दे। आज भी सुदामा और भगवान श्रीकृष्ण की मित्रता का उदाहरण दिया जाता है। उन्होंने सीख दी कि मनुष्य को दूरदर्शी होना चाहिए। हर परिस्थि‍ति का आकलन करना हमें आना चाहिए। भगवान श्रीकृष्ण हमें सिखाते हैं कि मुसीबत के समय हिम्मत नहीं हारनी चाहिए। उन्होंने अनुशासन में जीने और वर्तमान पर ध्यान केंद्रित करने का मंत्र दिया। भगवान श्रीकृष्‍ण को सबसे बड़ा कूटनीतज्ञ माना जाता है। उन्होंने सिखाया परिस्थितियां विपरीत हों तो कूटनीति का रास्‍ता अपनाएं। भगवान श्रीकृष्ण ने हमें कर्म करना सिखाया। कान्हा ने प्रेम को पवित्रता से निभाया। उन्होंने शिशुपाल को 100 बार क्षमा किया, लेकिन उसके नहीं सुधरने पर उसे मृत्यदंड दिया।

नोट:
इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!