गौ आश्रय केंद्र में पल रही गायों की हो रही मौतों पर अधिकारियों की चुप्पी

23 अगस्त 2019
सुरेश श्रीवास्तव संवाददाता

खुटार -शाहजहांपुर। विकासखंड खुटार की ग्राम सभा चमराबोझी में संचालित गौ आश्रय केंद्र में गायों की हो रही असामयिक मौतों पर संबंधित चुप्पी साधे बैठे हुए हैं विगत दिनों में कई गायों की आश्रय केंद्र में मौत हो चुकी है। मौजूद ग्वालों से बातचीत से स्पष्ट हो रहा है की गायों के लिए भरपूर चारा की व्यवस्था नहीं हो पा रही है अनुमान है कि कहीं भूख से तो गायों की मौत नहीं हो रही हैं ।

ग्वालों के अनुसार भूसे की व्यवस्था तीसरे चौथे दिन ट्राली से प्रधान के घर से मंगाकर की जाती है जबकि शासन की ओर से चारे -पानी की व्यवस्था गौशाला के अंदर ही हर समय उपलब्ध रहनी चाहिए गोवंश की रक्षा के लिए जनपद में कई संगठन कार्य कर रहे हैं साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गायों की सेवा के लिए हर समय तत्पर दिखाई देते हैं इसके बावजूद भी ग्राम पंचायत चमराबोझी स्थित गौ आश्रय केंद्र में प्रबंधन कार्य देखने वाले इस ओर से उदासीन दिखाई देते हैं।

दूसरी ओर गौ आश्रय केंद्र की देखभाल के लिए चिकित्सक भी नियुक्त हैं इसके बावजूद भी गायों की अनवरत हो रही मौतों का सिलसिला जारी है
बताते चलें चमरा बोझी गांव में कुल 5 खातों में 27.346 हेक्टेयर भूमि चारागाह की है फिर भी चारे की कमी के चलते गायों की हालत दयनीय है
इस संबंध में ग्राम विकास अधिकारी धर्मेंद्र अवस्थी बताया की गौशाला में कुल 37 गो वंशीय थे जिनमें वृद्ध होने की वजह से तीन गोवंशियों की मौत हो चुकी है,और दो अस्वस्थ हैं जिनका इलाज कराया जा रहा है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!