इटावा में रैगिंग का अजीबो-गरीब मामला आया सामने, प्रशासन में हड़कम्प

21 अगस्त 2019

उत्तर प्रदेश के सैफई में स्थित उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज यूपीयूएमएस) में रैगिंग का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. सैफई में स्थित इस मेडिकल यूनिवर्सिटी में सीनियर छात्रों ने एमबीबीएस के जूनियर छात्रों से फिल्मी अंदाज में रैगिंग करवाई । एमबीबीएस फर्स्ट ईयर के करीब 150 छात्रों का सर मुंडवा दिया गया है और उन्हें सीनियर छात्रों को झुक कर सलाम करना पड़ता है । यही नहीं सभी लोगों को हॉस्टल से लाइन में कॉलेज तक जाना होता है और इसी तरह वापस भी आना होता है । रैगिंग के इस तरह के मामले सामने आने के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मचा हुआ है । हालांकि जांच में स्टूडेंटों ने रैगिंग की बात से इनकार किया है ।

इटावा के सैफई में है ऑयुर्विज्ञान विष्वविद्यालय जिसे मिनी पीजीआई भी कहा जाता है । यहां पर एसबीबीएस की पढ़ाई होती है । अभी मेडिकल का नया सत्र शुरु हुआ है और इसी के साथ रैगिंग का सिलसिला भी शुरु हो गया है । फर्स्ट ईयर में एडमिशन लेने वाले लगभग सभी 150 छात्रों के बालों को गंजा करा दिया गया है और इन सभी लोगों को सड़क पर चलते हुए अगर कोई सीनियर मिल जाता है तो झुक कर सलाम करना पड़ता है । इतना ही नहीं इन्हें हॉस्टल से कॉलेज तक लाइन में जाना होता है और ऐसे ही वापस आना होता है । अगर लाइन टूट जाए तो सीनियर का दंड झेलना पड़ता हैं ।

इस बारे में जब सैफई विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर डॉक्टर राजकुमार से बात की गई तो उन्होंने इन आरोपों को खारिज कर दिया । उन्होंने कहा कि कैंपस में किसी तरह की कोई रैगिंग नहीं है । उनका दावा है कि विश्वविद्यालय में रैगिंग ना हो इसके लिए तमाम इंतजाम किए गए हैं ।

मगर मीडिया में खबर आने के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मच गया । प्रशासन ने जांच बैठा दी । लेकिन जांच में गए अधिकारी जब इस मामले की पूछताछ करने लगे तो इस मामले में बड़ा मोड़ आ गया । बताया जा है है कि 198 एमबीबीएस छात्रों ने लिखित बयान दिया है कि उनके साथ कोई रैगिंग नही हुई है । बाद में सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो.राजकुमार ने दी जानकारी।
डीएम जे.बी.सिंह के निर्देश पर जसवंतनगर एसडीएम और सैफई सीओ जांच करने के लिए पहुंचे थे लेकिन दोनों अफसरों ने मीडिया को कोई भी बयान नही दिया है ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!