नवाजपुर गांव में बिजली विभाग का कारनामा, जुगाड़ से चल रहा सप्लाई, हादसे की आशंका बढ़ी

20 अगस्त 2019

सुरेश श्रीवास्तव (संवाददाता)

खुटार (शाहजहांपुर) । बिजली विभाग के कर्मचारियों की उदासीनता व अनदेखी के चलते क्षेत्र में यदा-कदा दुर्घटनाएं होती रहती हैं इसका कारण जनता की शिकायत पर अमल न करना ही होता है । पिछले 2 वर्ष पूर्व भीषण आंधी के चलते नबाजपुर गांव के ट्रांसफार्मर से गांव को जाने वाली बिजली की लाइन के पोल गांव के नजदीक ही टूट गए थे जिसकी शिकायत ग्राम वासियों ने विद्युत उपकेंद्र पर की थी ।शिकायत को गंभीरता से न लेते हुए उन तारों को रास्ते में खड़े यूकेलिप्टस के पेड़ों से तार बांध दिए गए । 2 साल बीत जाने के बाद आज भी उन्हीं पेड़ों के सहारे गांव में विद्युत की आपूर्ति चल रही है । बड़ा सवाल है कि 2 साल बीत जाने के बाद बिजली के विभागीय अधिकारियों ने अभी तक टूटे हुए पोल फिर से नहीं लगवाए । जबकि नलकूप के कनेक्शन के प्रार्थना पत्रों पर अगर काश्तकार कोशिश करें तो 1 महीने के अंदर ही लाइन पर पोल लगा कर कनेक्शन भी चालू कर दिया जाता है । लेकिन इस गांव की लाइन पर 2 साल बीत जाने के बाद भी पोल नहीं लगाए गए । आज भी बिजली की सप्लाई पेड़ पर बधी लाइन के सहारे चल रही है । जिससे किसी भी समय बड़ा हादसा हो सकता है । शायद विभाग भी हादसे का इंतजार कर रहा है, तब जाकर शायद सुधि ले ।

उक्त संबंध में जानकारी करने पर एक विभागीय कर्मचारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि गांव के लिए जो पोल भेजे गए थे उन्हें प्राइवेट नलकूप के कनेक्शन में लगा दिए गए हैं । यह सब कार्य सुविधा शुल्क के सहारे किया गया ।
इस संबंध में एसडीओ खुटार ने बताया कि मामला मेरे संज्ञान में नहीं था, जानकारी मिली है, तत्काल जांच करवा कर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!