अल्लाह की इबादत में झुके हजारों सिर, अकीकत से मनाई गई ईदुल-अजहा का त्योहार

12 अगस्त 2018

शशि चौबे / संजय केसरी (संवाददाता)

डाला। त्याग, बलिदान व भाईचारे का संदेश दने वाला त्योहार ईदुल-अज़हा आज स्थानीय डाला जामा मस्जिद के ईदगाह परिसर में पूरे जोश व हर्षोल्लास के साथ मनार्इ गई व अदब एवं एहतराम के साथ नमाज भी अदा की गयी।ऐसे में सुबह से ही ईदगाह परिसर मे नमाजियों का तांता लगा रहा।बुजुर्ग,जवान व बच्चों ने अपने घर से निकलकर ईदगाह परिसर में पहले से ही पहुंचकर अपनी उपस्थिति दर्ज़ की। इस मौके पर मस्जिद के सदर गुलाम मुस्तफा ने बताया कि हर वर्ष के भांति इस वर्ष भी ईदुल-अज़हा की नमाज मौलाना जुबेर आलम रिज़वी द्वारा उपस्थित लोगों के साथ अदा कराई गयी व देश के अमन व चैन के लिए हजारों लोगों ने दुआएं मांगी इसके साथ ही साथ एक दूसरे के गले मिलकर ईदुल-अज़हा की मुबारकबाद भी दी।

नमाज से पूर्व मौलाना जुबेर आलम रिज़वी ने ईदुल-अज़हा त्योहार के बारे में बताते हुए कहा कि ईदुल अजहा का महीना निहायत अजमत और मर्तबे वाला है। इसका चांद नजर आते ही अजीमुश्शान कुर्बानी की याद ताजा हो जाती है। ईदुल-अजहा हजरत इब्राहीम अलैहिस्सलाम द्वारा अल्लाह के हुक्म पर अपने बेटे हजरत इस्माईल अलैहिस्सलाम की कुर्बानी देने की याद में मनाई जाती है।

इसके पश्चात उन्होने बताया कि ईद-उल-अज़हा पर्व समाज और लोगों के कामों के लिए कुर्बानी देने का सन्देश देता है।नमाज के दौरान सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम रहे।सुरक्षा कि दृष्टि से हर तरफ पुलिस मुस्तैदी से डटे रहे।

इस मौके पर मौलाना जुबेर अहमद रिज़वी,हाजी गुलाम रसूल ,हाजी यार मु.,हाजी अजीम,सदर गुलाम मुस्तफा,नायाब सदर अशरफ शाह,सेकेट्री रियाज अहमद,नायब सेकेट्री शमसुद्दीन अंसारी,खजांची युनूस खान,मो.इरफान,मंजूर अली,रियाजअहमद,मो.जाबीर,मो.रिजवान,नौशाद,मेराज,इरशाद खान व अन्य हजारों लोग उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!