कश्मीरी लड़कियों पर दिए गए बयान को लेकर घिरे हरियाणा के मुख्यमंत्री, अब दी सफाई

10 अगस्त 2019

कश्मीर की लड़कियों पर दिए गए अपने बयान को लेकर विवादों में घिरे हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अब सफाई दी है । उन्होंने कहा है कि बेटियां उनकी शान हैं और पूरे देश की बेटियां उनके लिए बेटियों के समान हैं । बयान पर सफाई देते हुए खट्टर ने अपने भाषण का वीडियो भी शेयर किया है ।

मनोहर लाल खट्टर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है,”कुछ मीडिया चैनल और न्यूज एजेंसियों के हवाले से एक भ्रामक तथा तथ्यहीन प्रचार चलाया जा रहा है । जनता से मेरा ईमानदार संवाद हमेशा रहा है इसलिये मेरे बयान का पूरा वीडियो मैं सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर कर रहा हूं । बेटियां हमारी शान हैं और पूरे देश की बेटियां हमारी बेटियां हैं ।”

बतादें कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम में कहा था कि अब हरियाणा के लोग भी कश्मीरी बहू ला सकते हैं ।उन्होंने कहा, ‘हमारे मंत्री ओपी धनखड़ कहते थे कि वह बिहार से ‘बहू’ लाएंगे । आजकल लोग कह रहे हैं कि कश्मीर का रास्ता साफ हो गया है । अब हम कश्मीर से लड़कियां लाएंगे’. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक सीएम खट्टर ने यह बयान फरीदाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में दिया है । खट्टर ने आगे कहा कि हरियाणा लैंगिक अनुपात को लेकर बदनाम रहा है। लोग कहा करते थे कि बच्चियों को यहां मार दिया जाता है । हमने बच्चियों को बचाने के लिए अभियान चलाया है । पहले 1000 बच्चों पर 850 बेटियां होती थीं लेकिन अब बेटियों की संख्या बढ़कर 933 हो गई है ।

बता दें कि इससे पहले खट्टर ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद कश्मीर की लड़कियों से शादी का रास्ता खुल गया है. उनके इस बयान की कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई विपक्ष के नेताओं ने आलोचना की । राहुल गांधी को खट्टर ने जवाब देते हुए अपने बयान पर सफाई दी । उन्होंने लिखा, ‘राहुल गांधी जी, आपके स्तर के नेता को कम से कम भ्रामक खबरों पर प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए । मैंने जो कहा था उसका विडियो शेयर कर रहा हूं।इसे देखें मैंने असल में क्या कहा था और किस परिप्रेक्ष्य में कहा था, इससे शायद थोड़ी तस्वीर साफ होगी।”

क्या कहा था राहुल गांधी ने

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने खट्टर के बयान के जरिए आरएसएस और बीजेपी पर करारा हमला बोला. उन्होंने कहा, ”कश्मीरी महिलाओं को लेकर मुख्यमंत्री खट्टर की टिप्पणी घृणित है । उनकी टिप्पणी से साफ पता चलता है कि कमजोर, असुरक्षित और दयनीय आदमी के लिए आरएसएस अपने प्रशिक्षण में क्या संदेश देता है. महिलाएं, पुरुषों की संपत्ति नहीं हैं।”

बीएसपी सुप्रीम मायावती ने की निंदा

बीएसपी सुप्रीम मायावती ने भी खट्टर के बयान की निंदा करते हुए कहा,”हरियाणा के सीएम 370 की समाप्ति के बाद कश्मीरी बहन-बेटियों के बारे में जो ओछी मानसिकता वाली अभद्रता कर रहे हैं उसकी बीएसपी कड़े शब्दों में निंदा व तीव्र भर्त्सना करती है. बीजेपी शीर्ष नेतृत्व महिला विरोधी इन हरकतों का संज्ञान लेकर तत्काल सख्त कार्रवाई करे।”

ममता बनर्जी ने खट्टर के बयान को असंवेदनशील करार दिया

वहीं इस मामले को लेकर पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खट्टर के बयान को असंवेदनशील करार दिया है । ममता बनर्जी ने कहा, ”उच्च पदों पर बैठे लोगों को सोचना चाहिए कि वह किस तरह के बयान महिलाओं को लेकर दे रहे हैं । यह बहुत ही दुखद है । ये केवल जम्मू कश्मीर ही नहीं पूरे देश के लिए दुखद है।”

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने भी कहा-माफी मांगे

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी खट्टर के बयान की निंदा की है । उन्होंने कहा कि मैं बयान की निंदा करता हूं, कश्मीर की बेटियो से माफी मांगे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!