क्षेत्र से लेखपाल गायब , ग्रामीण और किसान हलकान

10 अगस्त 2019

मुकेश अग्रवाल (संवाददाता)

सरकारी काम काज के लिए लोग पहुँच रहे दलालों की शरण मे

बीजपुर। दुद्धी तहसील के म्योरपुर क्षेत्र पंचायत में कई ग्राम पंचायतों के लेखपालों के नदारद रहने से ग्रामीणों को विभिन्न सरकारी योजनाओं का समय से लाभ नहीं मिल पा रहा है । लेखपालों के गांव में ना रहने से क्षेत्र की आदिवासी गरीब जनता को तहसील का अनावश्यक चक्कर लगाकर पैसा एवं समय दोनों बर्बाद करना पड़ रहा है ।

ताजा मामला म्योरपुर के जरहा और महुली ग्राम पंचायतों का बताया जा रहा है, ग्राम पंचायतों में शासन से तैनात लेखपाल कई महीने बीत जाने के बाद भी गांव में नहीं पहुंच रहे हैं । ग्रामीणों की मानें तो बारिश में जमीन संबंधी विवादों की लंबी कतार लगी हुई है लेकिन मामले के निस्तारण के लिए लेखपाल उपलब्ध नहीं रहते हैं । गौरतलब हो की लेखपालों के माध्यम से ही आय प्रमाण पत्र ,जात प्रमाणपत्र जैसे कई महत्वपूर्ण अभिलेख लोगों को मिलते हैं लेकिन ग्राम पंचायतों में अभिलेखों को प्राप्त करने के लिए ग्रामीणों को दलालों का सहारा लेना पड़ रहा है ।

सरकार द्वारा चालू की गई प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का भी क्रियान्वयन लेखपाल की गैरमौजूदगी में सही ढंग से नहीं हो पा रहा है। अभी तक गांव के गिने-चुने किसानों का ही योजना के तहत लाभ मिल रहा है। कई किसानों ने बताया कि लेखपाल के न रहने से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि हेतु आवेदन का कार्य दलालों के माध्यम से कराने का प्रयास किया गया लेकिन अभी तक किसानों को योजना का लाभ नहीं मिल सका है । ग्रामीणों ने जिलाधिकारी सोनभद्र का ध्यान आकृष्ट करा कर आवश्यक कार्रवाई की मांग किया है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!