अमरनाथ यात्रा पर आतंकी संकट, भारत सरकार की तरफ से एडवाइजरी जारी, अमरनाथ यात्रियों को वापस जाने के लिए कहा

02 अगस्त 2019

अमरनाथ यात्रा को लेकर बड़ी खबर आई है । जम्मू-कश्मीर सरकार ने अमरनाथ यात्रियों को वापस जाने के लिए कहा है ।अमरनाथ यात्रा पर गए यात्रियों के लिए भारत सरकार की तरफ से एडवाइजरी की गई है जिसमें कहा गया है कि श्रद्धालुओं को तुरंत वापस लौटना चाहिए और जहां पर वो हैं उसी जगह से तुरंत वापस लौटें । पाकिस्तानी में सक्रिय आतंकी संगठनों की तरफ से अमरनाथ यात्रा पर हमले की आशंका के मद्देनजर भारत सरकार ने ये फैसला किया है। पहले अमरनाथ यात्रा 15 अगस्त तक होनी थी ।

बता दें कि सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा पर बड़े आतंकी हमले की साजिश को नाकाम कर दिया। सीआरपीएफ, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस पर इसकी जानकारी दी। इस दौरान मौजूद अधिकारियों ने बताया कि अमरनाथ यात्रियों पर स्नाइपर से हमले की कोशिश की गई, लेकिन सुरक्षाबलों ने इसे पूरी तरह विफल कर दिया।

पाकिस्तान रच रहा यात्रा में गड़बड़ी की साजिश: सेना
सेना की तरफ से बताया गया कि पाकिस्तानी सेना लगातार कश्मीर में शांति भंग करने का प्रयास करती है। कई बार सर्च ऑपरेशन के दौरान बारूदी सुरंगों का भी पता चला लेकिन उनके सभी प्रयास विफल कर दिए गए। सेना के अधिकारी ने कहा कि कश्मीर में घाटी में स्थिति सुधरी है और आतंकियों की संख्या में भी कमी आई है।

लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने कहा कि सुरक्षा बलों ने अमरनाथ यात्रा के रूट पर आतंकियों के एक ठिकाने से सर्च ऑपरेशन के दौराप एक अमेरिकन स्नाइपर राइफल एम-24 बरामद की है। इसके अलावा पाकिस्तान पाकिस्तान में निर्मित बारूदी सुरंग और अन्य विस्फोटक बरामद हुए हैं। बरामद हुई माइन का इस्तेमाल पाकिस्तानी सेना करती है।

इससे पहले 31 जुलाई को खबर आई थी कि जम्मू-कश्मीर में अगले कुछ दिनों में भारी बारिश के अनुमान की वजह से अमरनाथ यात्रा चार अगस्त तक निलंबित रहेगी । श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के एक प्रवक्ता ने बताया था कि ‘खराब मौसम, पत्थरों के गिरने और भूस्खलन के मद्देनजर खासतौर से जम्मू क्षेत्र में यात्रा चार अगस्त 2019 तक निलंबित रहेगी।’

राज्य में पर्यटकों के लिए अचानक यात्रा खत्म किए जाने संबंधी एडवाइजरी जारी किए जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर नाराजगी और चिंता जताई है । उन्होंने कहा कि सीरियसली? आपने सोचा है कि एक सरकारी आदेश से पर्यटक जल्दी से घाटी छोड़कर भागने लगेंगे? कितने पर्यटक इस आदेश को देखकर भागने लगेंगे । लोगों के भागने से एयरपोर्ट और हाइवे पर जाम लग जाएगा ।

इससे पहले अपने एक और ट्वीट में उमर अब्दुल्ला ने कहा कि अमरनाथ यात्रा और पर्यटकों के बीच यह अप्रत्याशित आदेश दर्शाता है कि अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले की आशंका है । हालांकि इससे घाटी में मौजूद डर को कम नहीं किया जा सकता है ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!