7 सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

01 अगस्त 2019

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन के बैनर तले कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष गोपीनाथ गिरी के नेतृत्व में प्रधानों ने अपनी 7 सूत्रीय मांगों का मुख्यमंत्री नामक एक पत्रक जिलाधिकारी को सौंपा। प्रधानों ने मुख्यमंत्री को याद दिलाते हुए कहा कि ग्राम प्रधानों ने पूरी ईमानदारी से कार्य करते हुए स्वच्छता अभियान के तहत सभी ग्राम पंचायतों में शौचालय लगभग पूर्ण हो चुके हैं, विद्यालयों के कायाकल्प भी तेजी से हो रहे हैं तथा जल संचयन हेतु जलाशयों का निर्माण एवं मरम्मत कार्य प्रगति पर है लेकिन कुछ व्यवहारिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है जिसके संबंध में गोरखपुर में हुए ग्राम प्रधान सम्मेलन तथा लखनऊ में प्रतिनिधि मंडल द्वारा सीएम से मिल कर अपनी समस्या से अवगत कराया गया था और सीएम ने आश्वासन भी दिया था लेकिन आज तक इस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। इसलिए आज राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन द्वारा मुख्यमंत्री नामित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।

ग्राम प्रधानों ने कहा कि हमारी 7 सूत्रीय माँगों में प्रमुख हैं –

– 73वें संविधान संशोधन में जोड़ी गयी 11वीं अनुसूची के 29 कार्यों के कार्य, कर्मचारी और धन पंचायतों को सौपें या पंचायत सचिव रखने की अनुमति दें

– प्रधानों को तकनीकी जानकारी होने के बाद ही पी0एफ0एम0एस0 प्रणाली लागू की जाय

– वर्ष 2016-17 में परफार्मेंस ग्रांट आवंटन में हुई अनियमितता के दोषी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही की जाय

– लेखपालों को निर्देशित किया जाय कि वर्ष में दो बार भूमि प्रबंधन समिति की बैठक कराएँ

– राशनकार्ड के संबंध में आपूर्ति विभाग द्वारा कोटेदारों से फॉर्म भरवाकर मनमाने तरीके से राशनकार्ड निर्गत किए जा रहे हैं जिस पर तत्काल रोक लगाई जाए

– ग्राम प्रधानों को प्राथमिकता के आधार पर शस्त्र लाइसेंस जारी किए जाए तथा ग्राम प्रधानों की जाँच शासन द्वारा निर्गत नियमावली के अनुसार कराया जाय


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!