अधिक उम्र में हेपेटाइटिस का खतरा ज्यादा, जानें इसके Myth & Facts

मिथक : हेपेटाइटिस और पीलिया समान होते हैं।
हकीकत : पीलिया होने पर शरीर में बिलिरूबिन का जमाव हो जाता है। पीलिया कई कारणों से हो सकता है, जिनमें से एक हेपेटाइटिस है।

मिथक : सभी हेपेटाइटिस एक ही तरह से फैलते हैं।
हकीकत : हेपेटाइटिस ए और ई संक्रमित भोजन और पीने के पानी से फैलते हैं। संक्रमित चीजों को छूने से भी यह संक्रमण फैल सकता है। हालांकि, हेपेटाइटिस बी और सी से संक्रमित होने के लिए रक्त या बॉडी फ्लूइड से सीधा संपर्क जरूरी है।

मिथक : हेपेटाइटिस ए बच्चों में अधिक गंभीर होता है।
हकीकत : नहीं, यह सही नहीं है। हेपेटाइटिस ए वायरस के गंभीर संक्रमण से मरने वाले कुल लोगों में से सबसे अधिक 50 या उससे अधिक आयु वर्ग के होते हैं।

मिथक : हेपेटाइटिस बी लाइलाज बीमारी है।
हकीकत : हेपेटाइटिस बी का कोई इलाज नहीं है, लेकिन इसका प्रबंधन किया जा सकता है। कई दवाएं हैं, जो इसके लक्षणों को कम कर देती हैं। क्रॉनिक हेपेटाइटिस बी से पीड़ित लोगों को जीवन भर दवाओं का सेवन करना पड़ता है।

मिथक : वैक्सीन से हेपेटाइटिस सी की रोकथाम संभव है।
हकीकत : हेपेटाइटिस ए और बी को वैक्सीन से रोका जा सकता है, लेकिन हेपेटाइटिस सी को नहीं। डॉक्टर इसका वैक्सीन लेने की सलाह इसलिए देते हैं कि ताकि लक्षणों को गंभीर होने से बचाए।

मिथक : खाने के बर्तन साझा करने से हेपेटाइटिस हो सकता है।
हकीकत : हेपेटाइटिस सी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तब पास होता है, जब ऐसे व्यक्ति का संक्रमित रक्त किसी असंक्रमित व्यक्ति के रक्त से मिलता है। यह बर्तन साझा करने से नहीं फैलता।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!