पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से किरन सेवा समिति लखनऊ के तत्वावधान में किसान जागरूकता कार्यक्रम का किया गया आयोजन

28 जुलाई 2019

संतोष जायसवाल / हनीफ़ खान (संवाददाता)

करमा । पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग एवं निर्देशानुसार किरन सेवा समिति लखनऊ के तत्वावधान में मोती सिंह इण्टर मीडिएट कॉलेज धौरहरा करमा के प्रांगण में किसान जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।
कार्यक्रम मुख्य रूप से ” फसलों पर मौसम का प्रभाव” पर केंद्रित था।
कार्यक्रम का शुभारंभ आयोजक इंद्रजीत प्रबन्धक किरन सेवा समिति लखनऊ के द्वारा कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मोती सिंह इण्टर मीडिएट कॉलेज के संस्थापक डॉ. बिजेन्द्र सिंह व मुख्य अतिथि शिव मंगल सिंह (तकनीकी अधिकारी ग्रामीण कृषि मौसम सेवा बीएचयू) का माल्यार्पण कर किया गया।
किसान जागरूकता कार्यक्रम में प्रबन्धक इंद्रजीत द्वारा किसानों से जैविक खेती अपनाने को कहा गया। उन्होंने बताया कि जैविक खेती से किसान कम लागत में अच्छी पैदावार ले सकते हैं और साथ ही रासायनिक खाद व कीटनाशक से मनुष्य व अन्य प्राणियों पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव के बारे में भी विस्तृत जानकारी किसानों को दी गयी।

विशिष्ट अतिथि अजय कुमार वर्मा (विषय विशेषज्ञ) पद्मावती महिला डिग्री कॉलेज वाराणसी ने ग्लोबल वार्मिंग व उसके दुष्परिणाम के बारे में बताया। उन्होंने ने बदलते मौसम चक्र के लिये ग्लोबल वार्मिंग व ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन को मुख्य कारण बताया।
जैविक खेती के विशेषज्ञ योगेन्द्र कुमार सिंह ने किसानों को अपने घर व अपने संसाधनों द्वारा जैविक खाद , जैविक रसायन, व फफूंद नाशक नाम मात्र की लागत से बनाने की विधि से किसानों को अवगत कराया। कार्यक्रम के अंत में प्रबन्धक किरन सेवा समिति लखनऊ इंद्रजीत ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस मौके पर सतीश कुमार सिंह,प्रधानाचार्य मोती सिंह इं. कॉलेज , ब्रह्मानन्द तिवारी, दुर्गाराम तिवारी, शिव शंकर तिवारी ,प्रमोद कुमार सिंह, आर.के.सिंह, सुरेश सिंह, जयशंकर मौर्य, द्वारिका प्रसाद समेत सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!