थाना समाधान दिवसों में आई शिकायतों का गुणवत्ता परक ढंग से करें निस्तारण-जिलाधिकारी

24 जुलाई 2019
दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत । जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव की अध्यक्षता में थाना समाधान दिवस में प्राप्त जन समस्याओं/जन शिकायतों के निस्तारण प्रगति की समीक्षा गांधी सभागार, कलेक्ट्रेट पीलीभीत में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा विगत थाना दिवस में प्राप्त जन समस्याओं/शिकायतों के निस्तारणों की प्रगति की समीक्षा को गम्भीरता से लेते हुये प्रत्येक थाने के समाधान शिकायती रजिस्टर पर दर्ज शिकायतों की बरीकी से समीक्षा की गई।
वही जिलाधिकारी के आदेशानुसार सभी थानों में समाधान दिवस के लिए राजस्व विभाग के नोडल, विकास विभाग के नोडल व पुलिस विभाग के नोडल अधिकारी जन सुनवाई हेतु नामित किये गये थे और साथ ही साथ सभी को निर्देशित किया गया था कि आई शिकायतों का निस्तारण तीनों नोडल अधिकारी संयुक्त रूप से मौके पर जाकर निस्तारण आख्या व की गई कार्यवाही के सम्बन्ध में रिपोर्ट प्रस्तुत करेगें, साथ ही साथ क्षेत्र के लेखपाल व ग्राम सचिव भी उपस्थित रहेगें।
इसी क्रम में जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा शिकायत निस्तारणों की समीक्षा करते हुये सर्वप्रथम थाना बीसलपुर में आयोजित थाना दिवस के अवसर पर आई 10 शिकायतों में की गई कार्यवाही की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान राजस्व के नोडल अधिकारी नायब तहसीलदार व पुलिस विभाग के नोडल अधिकारी से सम्बन्धित शिकायतों के सम्बन्ध में स्पष्ट आख्या न देने और मौके पर जाकर शिकायत का निस्तारण न किये जाने के कारण स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिये और साथ ही साथ सम्बन्धित थानाध्यक्ष को इस सम्बन्ध में स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिये और साथ ही साथ सभी को निर्देशित करते हुये कहा कि ग्राम समाज या सरकारी भूमि पर कब्जा किये जाने के शिकायत पर तो तत्काल जांच कर दोषी पाये जाने पर दोषियों के विरूद्व एफआईआर दर्ज कराई जाये। थाना अमरिया में आयोजित थाना समाधान दिवस में कोई भी शिकायत प्राप्त नही हुई थी। थाना सुनगढी में 04 शिकायतें आई नोडल अधिकारी मौके पर न जाने के कारण स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिये गये, थाना जहानाबाद में 02 शिकायतें आई समीक्षा के दौरान पुलिस विभाग के नोडल अधिकारी एसएसआई बैठक में देरी से आने के कारण स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिये, थाना न्यूरिया की समीक्षा करते हुये नोडल अधिकारी सहायक विकास अधिकारी सहकारिता व पुलिस व राजस्व के नोडल अधिकारी द्वारा आई 07 शिकायतों में से 03 शिकायतों का निस्तारण न किये जाने तथा मौके पर जाकर जांच आख्या न देने के कारण स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिये, थाना बिलसण्डा की समीक्षा के दौरान आई 03 शिकायतों की आख्या संतोषजनक नही पाये जाने के कारण व ग्राम समाज की भूमि पर कब्जा हटवाने के सम्बन्ध में दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज न किये जाने के कारण स्पष्टीकरण सम्बन्धित राजस्व नोडल अधिकारी, सहायक चकबन्दी अधिकारी व पुलिस के नोडल अधिकारी को देने के निर्देश दिये। थाना बरखेडा से आये नोडल अधिकारियों द्वारा आपसी समन्वय न होने के कारण व प्राप्त शिकायतों के बारे में जानकारी न होने के कारण स्पष्टीकरण मांगा गया। थाना दियोरिया कलां में 04 शिकायतों में से 02 का निस्तारण, थाना सेहरामऊ उत्तरी में 03 शिकायतों में से 02 निस्तारण, थाना माधौटांडा व हजारा थाना में कोई भी शिकायत नही आई, थाना गजरौला में आई 06 शिकायतों में से 04 शिकायतों का निस्तारण किया गया थाना दिवस पर ग्राम सचिव न उपस्थित होने के कारण सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी को स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिये गये तथा शिकायतों का निस्तारण स्पष्ट रूप से आख्या न होने के कारण सम्बन्धित थानाध्यक्ष को इस सम्बन्ध में स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिये गये। थाना सदर में कुल 11 शिकायतों प्राप्त हुई सभी का निस्तारण किया गया परन्तु आख्या अपूर्ण होने के कारण नोडल अधिकारियों का स्पष्टीकरण जारी किया गया। थाना पूरनपुर के नोडल अधिकारी नायब तहसीलदार बैठक में न उपस्थित होने के कारण स्पष्टीकरण जारी के निर्देश दिये गये।
बैठक में पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी थाना प्रभारियों को कडे़ निर्देश देते हुये कहा कि सभी थानों पर सम्बन्धित क्षेत्र के लेखपालों की सूची ग्रामवार मोवाइल नम्बर सहित पेटिंग कर अंकित की जाये साथ ही साथ सम्बन्धित थानों के ग्रामों से सम्बन्धित ग्राम सचिवों की सूची अंकित की जाये। उन्होंने सभी थाना प्रभारियों व थाने पर नामित नोडल अधिकारियों को कडे़ निर्देश देते हुये कहा कि आई शिकायतों का मौके पर जाकर निस्तारण के पश्चात स्पष्ट आख्या रजिस्टर पर संयुक्त रूप से दर्ज की जाये, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी। बैठक में जिलाधिकारी ने इस सम्बन्ध कडे़ निर्देश देते हुये कहा कि प्रत्येक थाना दिवस के बाद आई शिकायतों को सम्बन्धित उप जिलाधिकारी व तहसीलदार समीक्षा करेगें साथ ही साथ जिला स्तर पर भी समीक्षा की जायेगी। आयोजित बैठक में जिलाधिकारी द्वारा यह भी निर्देश दिया गया कि सभी थाना दिवसों में सम्बन्धित क्षेत्र के अधिशासी अधिकारी भी उपस्थित रहेगें और शिकायतों के निस्तारण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाये।
बैठक में पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर, मुख्य विकास अधिकारी रमेश चन्द्र पाण्डेय, नगर मजिस्ट्रेट ऋतु पूनिया, जिला अर्थ एवं सांख्यिकी अधिकारी नरेन्द्र यादव सिंह नामित नोडल अधिकारी उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!