पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सुरक्षा में होगी कटौती – सूत्र

23 जुलाई 2019

सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की सुरक्षा में कटौती होगी। अखिलेश यादव को मिली हुई जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा के तहत ब्लैक कैट कमांडों को हटाया जाएगा । सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री ने हाल ही में CRPF के तहत सुरक्षा प्राप्त VIP लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा की ।

इसके बाद अखिलेश यादव को दी जाने वाली एनएसजी कवर सुरक्षा को वापस लेने का फैसला लिया गया है । सूत्रों के मुताबिक अखिलेश यादव के अलावा करीब 2 दर्जन वीआईपी लोगों की सुरक्षा या तो वापस ली जाएगी या फिर उसमें कटौती की जाएगी। इसके लिए आधिकारिक आदेश जल्द ही जारी कर दिया जाएगा ।

अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि अखिलेश यादव को मिली सुरक्षा में कटौती की जाएगी या फिर पूरी तरह से वापस ली जाएगी । वहीं सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मिली ब्लैक कैट कमांडो की सुरक्षा जारी रहेगी ।

अखिलेश यादव जब 2012 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे उस समय उन्हें यह सुरक्षा मुहैया कराई गई थी । वर्तमान में अत्याधुनिक हथियारों से लैस 22 एनएसजी कमांडो का एक विशेष दल अखिलेश यादव की सुरक्षा में तैनात रहता है ।

इससे पहले आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा में कटौती देखने को मिली थी । चंद्रबाबू नायडू के बेटे नारा लोकेश की भी सुरक्षा घटाई गई थी । इससे पहले उनके पास ‘जेड’ श्रेणी का कवर था, जिसे ‘वाई’ कर दिया गया था।

लोकेश अपने पिता चंद्रबाबू नायडू के मंत्रिमंडल में मंत्री थे । नायडू और उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा में भी कटौती हालिया विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में तेलुगु देशम पार्टी की हार के बाद हुई है । आपको बता दें कि साल 2003 में नक्सलियों ने नायडू को मारने का प्रयास किया था, जिसके बाद से उन्हें ‘जेड प्लस’ सुरक्षा मिली थी । ‘जेड प्लस सुरक्षा’ देश में किसी भी वीआईपी व्यक्ति को मिलने वाली सर्वोच्च सुरक्षा है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!