जिला स्तरीय कर्न्वेजेन्स कमेटी की कार्यशाला सम्पन्न

10 जुलाई 2019

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिला कार्यक्रम अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि 09 जुलाई 2019 को जनपद स्तरीय कर्न्वेजेन्स कमेटी की कार्यशाला एवं जिला पोषण समिति की मासिक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सायं 04.00 बजे आयोजित की गयी। बैठक मेंं सदस्य सचिव जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा विभिन्न विभागों तथा ग्राम्य विकास, शिक्षा, पंचायत राज, स्वास्थ्य, बाल विकास एवं खाद्य एवं रसद विभाग के कर्न्वेजेन्स से वित्तीय वर्ष 2019-20 हेतु जनपद स्तरीय कार्य योजना पर विस्तृत रूप से चर्चा की गयी। कार्य योजना में स्वस्थ्य एवं पोषण के विभिन्न इन्डीकेटर के सम्बन्ध में निर्धारित लक्ष्य के प्राप्ति के सम्बन्ध में किये जाने वाले प्रयासों पर विस्तृत चर्चा की गयी। कार्य योजना के बिन्दु जैसे गर्भवती महिलाओं का एम0सी0टी0एस0 रजिस्ट्रेशन 100 प्रतिशत करने, जन्म के 01 घण्टें के भीतर शत-प्रतिशत शिशुओं को स्तनपान कराये जाने, आंगनबाडी केन्द्रों पर बेबी फ्रेंडली शौचालय बनवाना, अतिकुपोषित बच्चों के परिवारों को शत प्रतिशत राशन कार्ड से आच्छादित कराना इत्यादि है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी द्वारा उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में ब्लाक स्तरीय कर्न्वेजेन्स कमेटी की बैठक 10 दिनों के भीतर आयोजित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने बताया गया की कर्न्वेजेन्स के माध्यम से जनपद के 105 आंगनबाडी केन्द्रों को मॉडल केन्द्र के रूप में स्थापित किया जाना है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि अनुपूरक पोषाहार शत प्रतिशत लाभार्थियों को मिलना चाहिए। बी0एच0एस0एन0डी0 के दिन 0 से 05 वर्ष के बच्चें, किशोरी एवं गर्भवती महिलायें, टीकाकारण व स्वास्थ्य जॉच से वंचित न होने पाये। सोन-उदय के अन्तर्गत बाल विकास, स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग द्वारा 15 दिनों के भीतर सर्वे कार्य पूर्ण कर लिये जाये। गांव गोद लिये अधिकारी नियमित रूप से निर्धारित दिवस को राजस्व गांव का भ्रमण करें तथा 02 माह में चयनित गांव को सुपोशित बनायें। एन0आर0सी0 में आई0सी0डी0एस0 एवं स्वास्थ्य विभाग सैम बच्चों को भर्ती करायें तथा एन0आर0सी0 स्टाफ इसका समुचित देखभाल करे।

सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी अति कुपोषित एवं कुपोषित बच्चों की सूची 01 सप्ताह के भीतर सप्लाई इंस्पेक्टर एवं खण्ड विकास अधिकारी को उपलब्ध करायें। जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं जिला पूर्ति अधिकारी शत प्रतिशत कुपोषित बच्चों का राशन कार्ड बनाना सुनिश्चित करें। ए0ए0ए0 की बैठक नियमित रूप से हो तथा ए0ए0ए0 की बैठक के पर्यवेक्षण हेतु नामित अधिकारी/कर्मचारी को 01-01 राजस्व गांव गोद लियें जायें। प्रत्येक माह के प्रथम बुद्ववार को ए0एन0एम0 सब सेन्टर पर आयोजित होने वाले सुपोषण स्वास्थ मेले को बाल विकास, स्वस्थ्य एवं पंचायती राज विभाग उत्सव के रूप में मनाये।कार्यशाला में उपजिलाधिकारी, सी0एम0एस0, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, राजस्व गांव गोद लिए सभी अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी, एम0ओ0आई0सी, सी0डी0पी0ओ0, बी0ई0ओ0 इत्यादि एवं यूनिसेफ, यू0पी0टी0एस0यू0 तथा पिरामल के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!